VISITORS
0 0 2 4 2 9
FOLLOW US ON

Tuesday, June 18, 2024, 7:55 am

National Digital & Print Media

जय हिन्द !

REGISTERED BY

(GOVERNMENT Of India)

Ministry Of Corporate Affairs

Ministry Of Information and Broadcasting

Search
Close this search box.

कुत्ते वाहनों के पीछे क्यों भागते हैं और इससे कैसे निपटें

httpwww.animalcrimepress.com
Share This Post

httpwww.animalcrimepress.com

“कुत्ते वाहनों के पीछे क्यों भागते हैं: एक विश्लेषण”

कुत्तों के वाहनों के पीछे भागने का व्यवहार कई कारणों से होता है। यह एक आम समस्या है जिससे न केवल वाहन चालकों को, बल्कि कुत्तों को भी खतरा हो सकता है। इस लेख में हम कुत्तों के इस व्यवहार के पीछे के कारणों और इससे बचने के उपायों पर चर्चा करेंगे।

कुत्ते ऐसा क्यों करते हैं..?  क्या करना चाहिए अगर कोई कुत्ता आपके पीछे भागे या भोंके……

1. क्षेत्रीयता: कुत्तों का एक क्षेत्र होता है जिसे वे अपनी संपत्ति मानते हैं। जब कोई वाहन उनके क्षेत्र में प्रवेश करता है, तो वे उसे अपनी संपत्ति पर अतिक्रमण मानते हैं और उसे भगा देने के लिए पीछे भागते हैं। यह उनके सुरक्षा और रक्षा के स्वाभाविक व्यवहार का हिस्सा है।

2. उच्च सूंघने की शक्ति: कुत्तों की सूंघने की शक्ति बहुत तेज होती है। वे दूर से ही किसी वाहन के आने की गंध को पहचान सकते हैं। कुछ कुत्ते आवाज और गंध के संयोजन से उत्तेजित हो जाते हैं और वाहन का पीछा करने लगते हैं।

  3. शिकार की प्रवृत्ति: कुत्तों में शिकार की प्रवृत्ति होती है। चलती हुई वस्तु, चाहे वह वाहन हो या कोई अन्य चीज, उनकी इस प्रवृत्ति को उत्तेजित करती है और वे उसे पकड़ने के लिए दौड़ पड़ते हैं।

4. खेल और मनोरंजन: कई कुत्ते सिर्फ मस्ती के लिए वाहन का पीछा करते हैं। वे इसे खेल के रूप में देखते हैं और उन्हें इस गतिविधि में मजा आता है।

कुत्ते पीछे आएं तो क्या करें और इस समस्या से कैसे बचें ?

1. शांत रहें: यदि कोई कुत्ता आपके वाहन के पीछे दौड़ता है, तो सबसे पहले शांत रहें। घबराएं नहीं और अचानक गति न बढ़ाएं। इससे कुत्ता और भी उत्तेजित हो सकता है।

2. गति धीमी करें: धीरे-धीरे वाहन की गति कम करें और यदि संभव हो तो वाहन को रोक दें। अधिकतर कुत्ते रुके हुए वाहन में रुचि खो देते हैं और चले जाते हैं।

3. हॉर्न न बजाएं: कुत्ते आवाज से और भी उत्तेजित हो सकते हैं, इसलिए हॉर्न बजाने से बचें।

4. नजर रखें: कुत्ते पर नजर रखें और देखें कि वह किस दिशा में जा रहा है। यदि वह वाहन के सामने आने का प्रयास करता है तो सावधान रहें।

5.शांत रहें: सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि घबराएं नहीं। घबराहट में किए गए किसी भी अप्रत्याशित हरकत से कुत्ता और आक्रामक हो सकता है।

6.धीरे चलें या रुक जाएं: अगर आप पैदल चल रहे हैं, तो धीरे चलना या रुक जाना सबसे अच्छा तरीका हो सकता है। कुत्ते को यह संकेत मिलता है कि आप कोई खतरा नहीं हैं।

7.आँखों से संपर्क न करें: कुत्ते के आँखों में सीधे न देखें। यह उन्हें एक चुनौती के रूप में प्रतीत हो सकता है।

8.कोई वस्तु न फेंकें: कुत्ते को किसी प्रकार की वस्तु फेंककर न भटकाएं, क्योंकि यह उनकी आक्रामकता को और बढ़ा सकता है।

9.ध्यान हटाएं: कुत्ते का ध्यान हटाने के लिए कोई शांत, दृढ़ आवाज में ‘नहीं’ या ‘जाओ’ कह सकते हैं। इसके साथ ही, आप कोई वस्त्र या बैग उसके सामने हिलाकर उसका ध्यान अपनी ओर से हटा सकते हैं।

10.सहायता मांगें: अगर कुत्ता अधिक आक्रामक हो रहा है, तो आसपास के लोगों या किसी पास के वाहन से मदद मांगें।

11. प्रशिक्षण: यदि आपके क्षेत्र में कुत्ते इस तरह का व्यवहार करते हैं, तो पशु प्रेमियों और समाजसेवी संस्थाओं के सहयोग से उन्हें प्रशिक्षण देने की व्यवस्था करें। इससे उनके आक्रामक व्यवहार में कमी आ सकती है।

12. जागरूकता: लोगों को कुत्तों के इस व्यवहार के बारे में जागरूक करें ताकि वे सावधान रहें और उचित उपाय कर सकें।

13. इलाका निर्धारित करें: कुत्तों के लिए एक निश्चित क्षेत्र निर्धारित करें जहां वे सुरक्षित रूप से घूम सकें। इससे वे बाहर आने वाले वाहनों के प्रति कम आक्रामक होंगे।

पशु प्रेमियों के लिए सुझाव– पशु प्रेमी और समाज के जिम्मेदार नागरिकों को चाहिए कि वे आवारा कुत्तों के प्रति संवेदनशील रहें और उनकी उचित देखभाल सुनिश्चित करें। इसके लिए निम्नलिखित कदम उठाए जा सकते हैं:

स्थानीय एनजीओ से संपर्क करें: आवारा कुत्तों की देखभाल और टीकाकरण के लिए स्थानीय पशु संगठनों से संपर्क करें।
खाने-पीने की व्यवस्था: नियमित रूप से कुत्तों के लिए भोजन और पानी की व्यवस्था करें, ताकि वे भूख के कारण आक्रामक न हों।
जनता को शिक्षित करें: लोगों को कुत्तों के व्यवहार और उनसे सुरक्षित रहने के तरीकों के बारे में शिक्षित करें।

निष्कर्ष:- कुत्तों का वाहनों के पीछे भागना एक सामान्य लेकिन गंभीर समस्या हो सकती है। इसके पीछे कई प्राकृतिक और व्यवहारिक कारण होते हैं। हमें समझदारी और धैर्य से इस स्थिति का सामना करना चाहिए और इसके समाधान के लिए सामूहिक प्रयास करने चाहिए। उचित प्रशिक्षण, जागरूकता और सावधानी से इस समस्या का समाधान किया जा सकता है और हम अपने समाज को और सुरक्षित बना सकते हैं।

पशुओं से संबधित हर छोटी बड़ी खबरें सबसे पहले पढ़े एनिमल क्राइम प्रेस पर|आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एनिमल क्राइम प्रेस पर |

Tags: Animal, Animals news, Animals Awareness, Animal News hindi, ACP News in hindi

First published on May 22, 2024, at 2:30 PM.

Leave a Comment

You May also like this
advertisement


Subscribe To us